Hanuman Chalisa In Hindi PDF – हनुमान चालीसा PDF हिंदी/आंग्ल में!

Google App उपयोगकर्ता आर्टिकल सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें।

Hanuman Chalisa PDF In Hindi: हनुमान चालीसा गोस्वामी तुलसीदास द्वारा रचित काव्यकृति है जिसमें 40 चौपाइयों व 3 दोहों के द्वारा भगवान श्री राम के अनन्य भक्त श्री हनुमान के गुणादि का बखान किया गया है।

यह कृति 16वीं सदी में तुलसीदास द्वारा अवधि भाषा में लिखी गयी थी। हनुमान चालीसा में ‘चालीसा’ अर्थात 40 चौपाइयां (3 परिचय दोहे) हैं।

हनुमान चालीसा का पाठ करने से दुःख और विकारों का नाश होता है। भगवान शंकर के 11वें रूद्र अवतार हनुमान जी की मंगलवार को विशेष पूजा की जाती है।

Hanuman Chalisa PDF
Hanuman Chalisa PDF

आज आपको Hanuman Chalisa Lyrics PDF In Hindi & English, Hanuman Chalisa Anuvad PDF, Hanuman Chalisa Video, Hanuman Chalisa MP3 मिलेगी जिन्हें आप डाउनलोड कर सकते हैं।

Hanuman Chalisa PDF

Hanuman Chalisa Lyrics (हनुमान चालीसा पाठ)

Hanuman Chalisa Lyrics In Hindi
Hanuman Chalisa Lyrics In Hindi

Hanuman Chalisa Lyrics In Hindi

दोहा

श्रीगुरु चरन सरोज रज निज मनु मुकुरु सुधारि।
बरनउँ रघुबर बिमल जसु जो दायकु फल चारि॥

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरौं पवन कुमार।
बल बुधि विद्या देहु मोहि, हरहु कलेश विकार॥

चौपाई

जय हनुमान ज्ञान गुन सागर। जय कपीस तिहुँ लोक उजागर॥
राम दूत अतुलित बल धामा। अंजनि पुत्र पवनसुत नामा॥२॥

महाबीर बिक्रम बजरंगी। कुमति निवार सुमति के संगी॥३॥
कंचन बरन बिराज सुबेसा। कानन कुंडल कुँचित केसा॥४॥

हाथ बज्र अरु ध्वजा बिराजे। काँधे मूँज जनेऊ साजे॥५॥
शंकर सुवन केसरी नंदन। तेज प्रताप महा जगवंदन॥६॥

विद्यावान गुनी अति चातुर। राम काज करिबे को आतुर॥७॥
प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया। राम लखन सीता मनबसिया॥८॥

सूक्ष्म रूप धरि सियहि दिखावा। विकट रूप धरि लंक जरावा॥९॥
भीम रूप धरि असुर सँहारे। रामचंद्र के काज सवाँरे॥१०॥

लाय सजीवन लखन जियाए। श्री रघुबीर हरषि उर लाए॥११॥
रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई। तुम मम प्रिय भरत-हि सम भाई॥१२॥

सहस बदन तुम्हरो जस गावै। अस कहि श्रीपति कंठ लगावै॥१३॥
सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा। नारद सारद सहित अहीसा॥१४॥

जम कुबेर दिगपाल जहाँ ते। कवि कोविद कहि सके कहाँ ते॥१५॥
तुम उपकार सुग्रीवहि कीन्हा। राम मिलाय राज पद दीन्हा॥१६॥

तुम्हरो मंत्र बिभीषण माना। लंकेश्वर भये सब जग जाना॥१७॥
जुग सहस्त्र जोजन पर भानू। लिल्यो ताहि मधुर फ़ल जानू॥१८॥

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माही। जलधि लाँघि गए अचरज नाही॥१९॥
दुर्गम काज जगत के जेते। सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते॥२०॥

राम दुआरे तुम रखवारे। होत ना आज्ञा बिनु पैसारे॥२१॥
सब सुख लहैं तुम्हारी सरना। तुम रक्षक काहु को डरना॥२२॥

आपन तेज सम्हारो आपै। तीनों लोक हाँक तै कापै॥२३॥
भूत पिशाच निकट नहि आवै। महावीर जब नाम सुनावै॥२४॥

नासै रोग हरे सब पीरा। जपत निरंतर हनुमत बीरा॥२५॥
संकट तै हनुमान छुडावै। मन क्रम वचन ध्यान जो लावै॥२६॥

सब पर राम तपस्वी राजा। तिनके काज सकल तुम साजा॥२७॥
और मनोरथ जो कोई लावै। सोई अमित जीवन फल पावै॥२८॥

चारों जुग परताप तुम्हारा। है परसिद्ध जगत उजियारा॥२९॥
साधु संत के तुम रखवारे। असुर निकंदन राम दुलारे॥३०॥

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता। अस बर दीन जानकी माता॥३१॥
राम रसायन तुम्हरे पासा। सदा रहो रघुपति के दासा॥३२॥

तुम्हरे भजन राम को पावै। जनम जनम के दुख बिसरावै॥३३॥
अंतकाल रघुवरपुर जाई। जहाँ जन्म हरिभक्त कहाई॥३४॥

और देवता चित्त ना धरई। हनुमत सेई सर्व सुख करई॥३५॥
संकट कटै मिटै सब पीरा। जो सुमिरै हनुमत बलबीरा॥३६॥

जै जै जै हनुमान गुसाईं। कृपा करहु गुरु देव की नाई॥३७॥
जो सत बार पाठ कर कोई। छूटहि बंदि महा सुख होई॥३८॥

जो यह पढ़े हनुमान चालीसा। होय सिद्ध साखी गौरीसा॥३९॥
तुलसीदास सदा हरि चेरा। कीजै नाथ हृदय मह डेरा॥४०॥

दोहा

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप॥

Hanuman Chalisa Lyrics In English
Hanuman Chalisa Lyrics In English

Hanuman Chalisa Lyrics In English

Doha

Shri Guru Charan Saroj Raj Nij Manu Mukur Sudhaari
Barnau Rahubhar Bimal Jasu Jo Dhayak Phal Chare

BudhiHeen Tanu Janike Sumiro Pavan Kumar
Bal Budhi Vidya Dehu Mohi Harhu Kalesh Bikar

Chaupai

Jai Hanuman Gyan Gun Sagr, Jai Kapis Tihu Lok Ujagr
Ram Dut Atulit Bl Dhama, Anjni Putr Pvn Sut Nama

Mahabir Bikram Bajrangi, Kumti Nivar Sumti Ke Sangi
Knchn Brn Biraj Subesa, Kanan Kundl Kunchit Kesha

Hath Vajra Or Dhwaja Biraje, Kandhe Munj Janeu Saje
Shnkr Suvn Kesri Nandn, Tej Prtap Mha Jag Vndan

Vidyavan Guni Ati Chatur, Ram Kaj Karibe Ko Atur
Prbu Chritra Sunibe Ko Rsiya, Ram Lakhn Sita Mn Bsiya

Sukshm Rup Dhri Siyhi Dikhava, Vikt Rup Dhri Lnk Jraw
Bhim Rup Dhri Asur Snghare, Ramchandr Ke Kaj Svare

Laye Sjiwn Lkhn Jiyae, Shri Rghuvir Harshi Ur Laye
Rghupti Kinhi Bhut Bdai, Tm Mm Priy Bhrt Hi Sm Bhai

Sahs Bdn Tmhro Jsh Gave, As Khi Shripti Knth Lgave
Sankadik Brahmadi Munisa, Nard Sard Sahit Ahisa

Ym Kuber Digpal Jhan Te, Kvi Kovid Khi Ske Khan Te
Tum Upkar Sugrivahin Keenha, Ram Milay Rajpd Dinha

Tmhro Mntr Vibhishn Mana, Lnkeswr Bhye Sb Jg Jana
Jug Shstr Jojn Pr Bhanu, Lilyo Tahi Madhur Phl Janu

Prbu Mudrika Meli Mukh Mahi, Jldi Lngi Gye Achrj Nahi
Durgm Kaj Jagt Ke Jete, Sugm Anugrha Tumhre Tete

Ram Dware Tum Rakhvare, Hot N Agya Binu Paisare
Sb Sukh Lhe Tmhari Srna, Tm Rakshk Kahu Ko Dr Na

Aapn Tej Samharo Ape, Tinho Lok Hankte Kanpe
Bhut Pisach Nikt Nahi Ave, Mhavir Jb Nam Sunave

Nase Rog Hre Sb Pira, Jpt Nirantr Hanumt Bira
Snkt T Hnuman Chhudav, Mnkrm Vchn Dhyan Jo Lave

Sab Par Ram Tapasvi Raja, Tin Ke Kaj Sakal Tum Saja
Or Manorath Jo Koi Lave, Sohi Amit Jivan Phal Pave

Charo Jug Prtap Tumhara, Hai Prsidh Jagat Ujiyara
Sadhu Snt Ke Tm Rkhware, Asur Nikndn Ram Dulare

Ashth Sidhi Nav Nidhi Ke Data, Asvar Din Janki Mata
Ram Rsayn Tumhre Pasa, Sda Rho Raghupti Ke Dasa

Tmhre Bhajn Ram Ko Pave, Jnm Jnm Ke Dukh Bisrave
Ant Kal Rghuvr Pur Jayi, Jhan Jnm Hari Bhakt Khaai

Or Devta Chit N Dhrhi, Hanumt Se Hi Srv Sukh Krhi
Sankat Kte Mite Sb Pira, Jo Sumire Hanumat Balbira

Jai Jai Jai Hanuman Gosai, Krpa Krhu Gurudev Ki Nae
Jo Sat Bar Path Kar Koi, Chhuthi Bndhi Mha Sukh Hoe

Jo Yh Pdhe Hanuman Chalisa, Hoy Sidhi Sakhi Gorisa
Tulsidas Sada Hari Chera, Kije Nath Hriday Meh Dera

Doha

Pavan Tanay Sankat Haran, Mangal Murati Roop
Ram Lakhan Sita Sahita, Hriday Basahu Soor Bhoop

Hanuman Chalisa Video

Murari Poonia

Murari Poonia is a UG student, a novice web developer & designer, as well as a part-time blogger. Apart from that, you may see him engraving his words on paper with a pen in his free time. He's from Churu in Rajasthan. 🖤

टिप्पणियाँ(0)

अपनी प्रतिक्रिया दें।

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जायेगा। चिह्नित फ़ील्ड आवश्यक है *